आज हम सिर्फ और सिर्फ बैकलिंक के बारे में जानकारी देने वाले हैं। जिसमें हम जानेंगे बैंकलिंक होता क्या है। बैंकलिंक कैसे बनाते हैं। आज का आर्टिकल आपके लिए काफी हेल्पफुल साबित होने वाला है। यदि आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट को और किसी भी प्रकार से ट्रैफिक लाना है। तो यह आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण होने वाला है। कि हम आज आपको बताते हैं बैकलिंक के बारे में। 

What IS Backlink In Hindi -

बाइक लिंग एक ऐसा लिंग होता है। जो हम किसी अन्य के वेबसाइट से अपने वेबसाइट पर ट्रैफिक जाने का रास्ता बनाते हैं। यदि हम सरल भाषा में इसके बारे में बात करें। तो जब कोई वेबसाइट कौन हो अपने वेबपेज में हमारे हुए पेज का लिंक ऐड करता है। उसको हम बैकलिंक बोलते हैं। 

बैकलिंक दो प्रकार की होती है। जिसमें Do Follow Backlink और No Follow Backlink होता है। इनके अलग-अलग प्रभाव होते हैंहमारी वेबसाइट पर। चलीए हम आपको इनके प्रभावों के बारे में जानकारी दे देते हैं। 

जब हम अपनी किसी भी वेबसाइट पर बैंकलिंक बनाते हैं तो वह हमारे वेबसाइट को अच्छा रहे प्रदान करता है। इसमें भी कई प्रकार होते हैं यदि आपके पास 1Do फॉलो बैकलिंक है तो वह 100 नो फ़ॉलो बैकलिंक्स के बराबर होगा। 


What Is Backlink, High Quality Backlink Kaise Banaye
Backlink कैसे बनाते हैं


यदि आपके पास किसी प्रकार से दो बैकलिंक बन जाता है। तब वह नो फॉलो बैकलिंक कितना भी अधिक रहे। वह do फॉलो बैकलिंक्स का मुकाबला नहीं कर सकता है। क्योंकि Do फॉलो बैकलिंक्स हमें अच्छा लिंक माना जाता है। जिसे हम Paid और फ्री भी प्राप्त कर सकते हैं। 

हमें डू फॉलो बैकलिंक के लिए एक अच्छे से ब्लॉग Owner  से संपर्क करना होगा। जिसके ऊपर आपका ब्लॉग होता है। आप उनसे बोलकर गेस्ट पोस्ट भी करके बैकलिंक पा सकते हैं। 

क्या हमारी वेबसाइट के लिए काफी उप योगी रहता है। चलिए हम आपको बता देते हैं डू  फॉलो बैक लिंक और no follow backlinks में क्या क्या अंतर होता है। 

Do Follow Backlink Vs No Follow Backlink

जब हम अपनी वेबसाइट पर बैकलिंक बनाते हैं। तो हमें अधिक से अधिक मात्रा में Do Follow Backlink List पर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि यदि आपको 10 बैकलिंक प्राप्त हो जाता है। तब आपको किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होगी गूगल की टॉप पर आने में। यदि उसका कंपटीशन लो रहता है tब। 

वहीं यदि आपके पास 100+ नो फॉलो बैक लिंक है। तो उसका उतना महत्व नहीं होता है। जितना कि हमें Do Follow Backlink से महत्व मिलता है और हमारी वेबसाइट या ब्लॉग अच्छे से रैंक करता है। Do Follow Backlink हमारी वेबसाइट को रैंक करने में काफी मददगार होता है। 

यदि आप की वेबसाइट बिना बैंकलिंक के गूगल के ऊपर रैंक कर रही है। तब आप ही बेवसाइट पर अच्छा खासा टाइपिंग आने लगता है। वहीं यदि आपको बैंक लिंक बनाना है तब आपको गेस्ट पोस्ट या कमेंट के जरिए Do Follow Backlink प्राप्त कर सकते हैं। 

यहां पर आपको फ्री में भी बैकलिंक प्राप्त हो जाता है कुछ वेबसाइट या ब्लॉग पैसे लेकर भी बैकलिंक देते हैं आपको यदि दोफॉलो बैकलिंक्स चाहिए। तब आपको अच्छे से जो ब्लॉग कर रहा है उसके उनसे बात करके उसके ऊपर से आप दोफॉलो बैकलिंक्स प्राप्त कर सकते हैं और आपकी वेबसाइट को ट्रैफिक ला सकते हैं। 

Backlinks बनाने के क्या फायदे होते हैं -

बैकलिंक बनाने से हमें बहुत सारे फायदे मिलते हैं। जब हम लोग फॉलो पर क्लिक बनाते हैं। तब हमारी वेबसाइट गूगल पर रैंक करने में इंक्रीमेंट प्राप्त करते हैं। हमारी ब्लॉग वेबसाइट की क्वालिटी और अथॉरिटी बढ़ाता है और हमारी वेबसाइट पर ओरिजिनल ट्रैफिक प्राप्त होता है। 

अब हम आपको बताते हैं नो फॉलो बैकलिंक पर बनाने पर क्या फायदा होता है। जब हम no follow backlink बनाते हैं तो हमारी बेसाइड गूगल पर Spam नहीं होती है। 

आपकी वेबसाइट पर अच्छा खासा ट्रैफिक आ जाएगा। 

आप किसी भी वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट को प्रमोट कर सकते हैं। 

नो फॉलो बैकलिंक हमें गूगल के Bots से भी बचाता रहता है। जो यह चेक करता है कि आपकी वेबसाइट का स्पैम स्कोर क्या है। यदि आप लोग का इस्तेमाल करते हैं तो उसको आपकी वेबसाइट का कम रहता है। 

High Quality Backlink कैसे बनाते हैं -

1-: यदि हमें बाइक लिंक बनाना है तब हमें हाई क्वालिटी वेबसाइट का ध्यान देना होगा। हमें हाई क्वालिटी वेबसाइट से ही बिजली प्राप्त करनी चाहिए। जिससे हमारी वेबसाइट अच्छे से Rank हो जाए। 

2-: हमें जब भी कोई कंटेंट लिख रहे हैं तब हमें इंटरनल लिंकिंग करना जरूरी होता है। जिससे हमारे वेबसाइट पर होने वाले बाउंस रेट कम हो जाता है और हमारी भी साइट पर विजिटर अधिक समय तक रहता है और हमारे अलग-अलग कंटेंट को पढ़ता है। जिससे हमारे बाउंस रेट कम होती हैं। 

3-: हमें इस बात का ध्यान रखना है। जब भी हम बैक लिंक बना रहे हैं। तब हमें हाई क्वालिटी वेबसाइट को ही यूज करना है। ऐसा कभी नहीं करना चाहिए कि आपका बाइक लिंग की किसी लो क्वालिटी कैटेगरी में रखते हुए। आपको दोफॉलो बैकलिंक्स नहीं पाना है। इससे आपका स्पैम स्कोर कम तो रहेगा और ट्रैफिक भी आता है। लेकिन उतना फायदेमंद नहीं रहता है। जितना हमें हाई क्वालिटी वेबसाइट से ट्रैफिक प्राप्त हो जाता है। 

अगर आप बैंकलिंक होता क्या है। बैंकलिंक कैसे बनाते हैं। यह आर्टिकल आपके लिए हेल्पफुल है। तब आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। जो लोग ब्लॉगिंग कर रहे हैं या ब्लॉगिंग के बारे में सोच रहे हैं। शुरू करने के लिए उनके लिए यह आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण है। इसीलिए आप अपने दोस्तों को यह आर्टिकल जरूर शेयर कर दें।